ज़ूम को चुनौती देने को तैयार है स्वदेशी ऐप ‘वयम्’

Indian Vayam or Other Foreign Apps? It's your decision


एप्लीकेशंस की दुनिया में आज हर वह काम आप अपने मोबाइल से कर सकते हैं, जिसकी कुछ साल पहले तक कल्पना नहीं की जा सकती थी.

एक उदाहरण से इसे यूं समझें कि पहले अगर आपको एक फोटो एडिट करना होता था, तो फोटोशॉप जैसे हेवी सॉफ्टवेयर को पहले अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल करना पड़ता था, और वहां से एडिटिंग करनी पड़ती थी, किंतु आज देखिए!

मात्र एक सिंगल क्लिक पर न जाने कितने ऐप इस कार्य को आसानी से कर देते हैं. 

ऐसे ही तमाम कार्यों के लिए अलग-अलग ऐप्स मौजूद हैं, और इससे निश्चित रूप से दुनिया भर में डिजिटल रफ्तार बढ़ी है.

हालांकि इस रफ्तार में भारतीय लोगों के लिए एक कसक ज़रूर उभरी है, देशप्रेम करने वालों को एक दर्द ज़रूर है, और वह दर्द यह है कि भारत में प्रयोग होने वाले तमाम एप्लीकेशंस में टॉप पर विदेशी एप्लीकेशन कब्जा जमाए हुए हैं.

जी हां! यह एक तरह का कब्जा ही है, और अगर आप ध्यान दें तो जिस तरह से ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत में कारोबार करने के लिए एंट्री ली, किन्तु बाद में धीरे धीरे भारतवासियों को गुलाम बना लिया, आज भी कहीं न कहीं हम डिजिटल गुलामी की ओर बढ़ चले हैं.

यह बातें हम सभी जानते ही हैं, और मानते भी हैं, परंतु सवाल यह उठता है कि आज के समय में आत्मनिर्भर भारत के लिए हमें क्या करना चाहिए? 

इसी प्रश्न का जवाब देने आया है, आईआईटी से निकले इंजीनियर द्वारा बनाया गया एप्लीकेशन 

वयम्

वयम् ऐप, वास्तव में वीडियो कम्युनिकेशन के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होने की राह पर है.

सुपरप्रो ‘वयम्’ के फाउंडर एवं सीईओ गौरव त्रिपाठी कहते हैं कि “कोरोना पीरियड के दौरान हुए बड़े लॉक डाउन का फायदा अगर किसी विदेशी कंपनी ने सर्वाधिक उठाया है, तो वह निश्चित तौर पर ज़ूम एप्लीकेशन है. जूम एप्लीकेशन ने देखते-देखते भारत के वीडियो कम्युनिकेशन मार्केट पर एक तरफ से कब्जा कर लिया है, जो भारत के डिजिटल सिक्यूरिटी के लिए एक बड़ा खतरा हो सकता है.”

गौरव त्रिपाठी की बात काफी हद तक सच दिखती है, क्योंकि 2019 के एक आंकड़े के अनुसार वीडियो कम्युनिकेशन की मार्केट भारत में तकरीबन 400 मिलियन यूजर्स तक पहुंच गई थी, और आप यह जानकर आश्चर्य करेंगे कि इसमें से तकरीबन 29 मिलियन यूजर्स ने तब तक ज़ूम इंस्टॉल कर लिया था.

एक अन्य आंकड़े के अनुसार 2021 में 50% से अधिक वीडियो कम्युनिकेशन के भारतीय बाज़ार पर सिर्फ और सिर्फ विदेशी कंपनी ज़ूम का कब्जा है.

ऊपर से देखने में यह आपको बेशक साधारण सी बात लगे, लेकिन भारत की डिजिटल सिक्योरिटी के बारे में जब आप सोचेंगे, तब आपको ध्यान आएगा कि हम कितने बड़े खतरे में हैं.

डिजिटल उपनिवेशवाद (Colonialism) पहले से ही बड़े खतरे के रूप में चर्चित रहा है, और ऐसे में जरूरी हो जाता है कि ज़ूम जैसे विदेशी एप्लीकेशन की बजाए ‘वयम्’ जैसे स्वदेशी एप्लीकेशन को अपनाया जाए.

वयम्: वर्ल्ड क्लास वीडियो कम्युनिकेशन ऐप

वयम् एप्लीकेशन भारत के लिए, आईआईटी के भारतीय इंजीनियरों द्वारा निर्मित एक बेहद क्लियर यूजर इंटरफेस के साथ वर्ल्ड क्लास एप्लीकेशन बनने की ओर तेजी से आगे बढ़ चला है.

आप इसे एक बार इंस्टॉल कीजिए, और आप आसानी से अपनी वीडियो कम्युनिकेशन जरूरतों को पूरा कर सकते हैं.

एंड टू एंड इंक्रिप्शन पर काम करने वाला वयम् है हंड्रेड परसेंट सेफ (100% Secured)!

इसे इस्तेमाल करने पर आपका डेटा भारत में ही रहता है, और विदेशी कंपनियां इसका दुरूपयोग नहीं कर सकती हैं.

इस संदर्भ में ‘वयम्’ के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी गौरव त्रिपाठी साफ तौर पर कहते हैं कि “भारतीय लोगों को पूरी तरह से सुरक्षित एवं वर्ल्ड क्लास वीडियो कम्युनिकेशन एक्सपीरियंस देना वयम् के प्रमुख लक्ष्यों में से एक है.”

क्या है ‘वयम्’ की खासियतें?

अगर वयम् की खासियतों की बात करें, तो इसमें वैश्विक स्तर की सुविधाएं होने के साथ-साथ भारतीय कल्चर को मजबूती देने वाले विशेष फीचर्स मौजूद हैं.

भारतीय कल्चर के परिप्रेक्ष्य में आप चाहे संगोष्ठी करें, आप चाहे ऑनलाइन बैठक करें, आप चाहे कोई उत्सव मनाएं, सभा करें, आपका कोई ऑनलाइन सत्र हो, यह तमाम चीजें, बेहद कस्टमाइज ढंग से आपके सामने ‘वयम्’ प्रस्तुत करता है.

भारतीय त्योहारों के ऑनलाइन आयोजन के लिए सुपर प्रो ‘वयम्’ की टीम निरंतर कार्य कर रही है.

अभी पिछले दिनों में गणेश उत्सव का बड़े पैमाने पर ऑनलाइन आयोजन प्रोत्साहित किया गया. इसके लिए ‘वयम्’ टीम ने 5 लाख तक की इनामी प्रतियोगिताएं भी आयोजित कीं, जिसमें तमाम लोगों ने ऑनलाइन उत्सव का आनंद लिया.

वयं पर इवेंट क्रियेट करने के लिए "Namaste" लिखें एवं इस नंबर पर व्हाट्सऐप सन्देश भेज दें: +91 83839 62814

चूंकि कोविड-19 के टाइम में प्रत्येक भारतीय का स्वास्थ्य अत्यंत महत्वपूर्ण है, इसलिए भी वयम् की टीम भगवान गणेश के उत्सव को ऑनलाइन अनुभव में बदलने के लिए पूरी तैयार रही.

इसके साथ हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में हिंदी उत्सव कार्यक्रम मनाया गया, जिसमें देश भर से 400 से अधिक कवियों ने अपनी देशभक्ति की कविताओं से लोगों को जबरदस्त ढंग से प्रेरित किया, समां बाँध दिया.

हिंदी उत्सव के साथ-साथ CKS (सेंटर फॉर नॉलेज साव्रन्टी) जैसे इवेंट पूरी सफलता के साथ ज़ूम पर आयोजित हुए, जिसमें वयम् संस्थापक गौरव त्रिपाठी ने राष्ट्रहित के डिजिटल मुद्दे, अर्थात 'डिजिटल उपनिवेशवाद' को, देश की जानी मानी हस्तियों के सामने मजबूती से उठाया.


स्वदेशी ऐप पर यह सीरिज अनवरत जारी है...

आप अगर ‘वयम्’ एप्लीकेशन की खासियतों से रूबरू होना चाहते हैं, तो वयम् ऐप पर होने वाले तमाम आयोजनों में भाग लें और इसके फीचर्स को नजदीक से समझें. एक बार समझने के बाद, आपके जीवन का यह हिस्सा हो जायेगा, यह आप स्वयं अनुभव कर सकेंगे.

हमारे भारतीय कल्चर को तमाम विदेशी कंपनियों ने निश्चित रूप से नुकसान पहुंचाया है, इसलिए भी वयम् सिर्फ व्यापारिक नजरिए से अपने स्टार्टअप को लेकर नहीं चल रही है, बल्कि कल्चरल वैल्यूज को सर्वाधिक अहमियत दी जा रही है.

इस संदर्भ में सीईओ गौरव त्रिपाठी बिना लाग लपेट के साफ़-साफ़ कहते हैं कि “हमारे लिए भारतीय मूल्य सबसे पहले हैं, और इंडियन वैल्यूज की सुरक्षा-संरक्षा हमारे लिए सबसे ऊंची प्राथमिकताओं में से है.”

वयम् की टीम भी अपने सीईओ के कथन को हर स्तर पर सार्थक करने के लिए दिन-रात प्रयत्नशील है. 

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस आधारित ‘वयम्’ की तकनीकी विशेषताएं

वयम् की तकनीकी विशेषताओं की बात करें, तो इसका यूजर इंटरफेस बेहद सिंपल रखा गया है, किन्तु इसकी फंक्शनिंग उतनी ही मजबूत और एररलेस है.

इसे आप सिंगल क्लिक पर एक्सेस कर सकते हैं. साथ ही अगर आप इसमें अपना वीडियो चैट रूम बनाना चाहें, तो उस पर आप कई लोगों को जोड़कर साथ में चैट कर सकते हैं, अपनी कम्युनिकेशन वीडियो को रिकॉर्ड कर सकते हैं, और क्लाउड के साथ-साथ अपने कंप्यूटर में डाउनलोड कर सकते हैं.

इसके अलावा अगर आप कोई भारतीय उत्सव आयोजित करना चाहते हैं, तो आप वयम् एप्लीकेशन को सम्बंधित उत्सव के अनुरूप कस्टमाइज कर सकते हैं. 

वयं पर इवेंट क्रियेट करने के लिए "Namaste" लिखें एवं इस नंबर पर व्हाट्सऐप सन्देश भेज दें: +91 83839 62814

ऊपर सन्देश भेजते ही आपको आगे की प्रक्रिया स्वयं ही पता चल जाएगी, एवं आपके इवेंट का / उत्सव का लिंक भी प्राप्त हो जायेगा. तत्पश्चात ऑनलाइन उत्सव / इवेंट का लिंक ओपन होते ही उस उत्सव में भाग लेने वाले लोग अपने आप ही उत्सव के बारे में समझ जाएंगे, और संबंधित उत्सव के रंग में रंग जाएंगे.

तकनीकी सुरक्षा के लिए स्तर पर आप यह जान लीजिए कि इस एप्लीकेशन के सभी डाटा इंक्रिप्टेड फॉर्मेट में सर्वर पर स्टोर होते हैं, तो इसका सर्वर भारत में ही है, और भारत से बाहर कोई भी आपके डाटा को एक्सेस नहीं कर सकता है.

निश्चित रूप से ‘वयम्’ की भारतीय इंजीनियरों की टीम इस सॉफ्टवेयर में लगातार अपडेट कर रही है, और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आधार पर इसमें दिन पर दिन सुधार किए जा रहे हैं.

भारतीय नागरिकों के फीडबैक को बेहद गहराई से समझते हुए ‘वयम्’ पूरी तरह से भारतीय रंग में सराबोर होने के लिए तैयार नज़र आता है.

भारत सरकार जहां आत्मनिर्भर भारत का नारा दे रही है, तो हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के स्वर में स्वर और कदम से कदम मिलाकर सुपरप्रो ‘वयम्’ के संस्थापक व मुख्य कार्यकारी गौरव त्रिपाठी डिजिटल आत्मनिर्भर भारत का मंत्र लेकर आगे बढ़ रहे हैं.

एक भारतीय के तौर पर देश को डिजिटल आत्मनिर्भर बनाने में पूरा योगदान करन हमारा कर्तव्य है. अतः किसी विदेशी ऐप की बजाय, भारतीय एप्लीकेशन ‘वयम्’ का इस्तेमाल करना निश्चित रूप से हर तरह से लाभकारी है, हितकारी है.

न केवल खुद, बल्कि अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों, कार्यस्थल पर साथ में कार्य करने वाले सहयोगियों को भी ‘वयम्’ इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करना भी #DigitalAatmaNirbharBharat की ओर बढ़ते हम सबके क़दमों को मजबूत ही बनाएगा. 

किसी भी प्रकार के प्रश्न के लिए, वीडियो कम्युनिकेशन ज़रूरतों के लिए हमें व्हाट्सएप करें: +91 83839 62814 

वयम् वेबसाइट पर जाएँ: https://vayam.app/

वयम् ब्लॉग पर आप पहले से यह लेख पढ़ रहे हैं, और अब आपको फैसला लेना है कि...


वयं पर इवेंट क्रियेट करने के लिए "Namaste" लिखें एवं इस नंबर पर व्हाट्सऐप सन्देश भेज दें: +91 83839 62814

Web Title: Indian Vayam or Other Foreign Apps? It's your decision

vayam.app




Post a Comment

Previous Post Next Post